अंतर्मुखी होकर संसार में रहना और साधन करते रहना – 40 चरण

परमानन्द और स्वतंत्रता हमारा ज्ञान जो हमारे वास्तविक स्वरूप की खोज करता हे और दुख से मुक्ति दिलाता हे । यह ज्ञान मन के पर ले जाता हे, जहां सतचितनन्द का निवास हे । यह ज्ञान हमे उस सत्ता का अनुभव करता जो प्रत्येक मनुष्य का स्वरूप हे। जीवन की यह यात्रा सबसे अनुपम के […]

MORE
क्या संतोष तप हे या मन का बहाना

जीवन यात्रा – आनंद की खोज प्रत्येक व्यक्ति का व्यक्तित्व अलग और अनुपम हे , पर स्वरूप एक हे I इसीलिए गाइड और गुरु प्रत्येक य्वक्ति को अलग साधना के सूत्र से जागरण की दिशा देता हे. फिर गुरु अपने रास्ते और शिष्य जो गुरु बन गया हे वो भी अपने रास्ते I इस सीरीज […]

MORE
मंत्र विज्ञान – एक परिचय और अभ्यास

Girish Jha MA, BS, APA (American Psychology Association), RYT-500 40+ years of teaching, training, research, mentoring people – diplomats, technocrats, engineers, doctors, students, men and women. Girish Jha invokes the teachings and practices taught for 6000 years. These teachings are everlasting, relevant even today to awaken to permanent happiness, peace, love and wisdom. Download free […]

MORE
हमारे दो जन्म होते जब हम साधना करते हे

Girish Jha MA, BS, APA (American Psychology Association), RYT-500 40+ years of teaching, training, research, mentoring people – diplomats, technocrats, engineers, doctors, students, men and women. Girish Jha invokes the teachings and practices taught for 6000 years. These teachings are everlasting, relevant even today to awaken to permanent happiness, peace, love and wisdom. Download free […]

MORE
200908 स्व या ध्यान की यात्रा , कैसे सफल हो, क्यों असफल होते हे

Girish Jha MA, BS, APA (American Psychology Association), RYT-500 40+ years of teaching, training, research, mentoring people – diplomats, technocrats, engineers, doctors, students, men and women. Girish Jha invokes the teachings and practices taught for 6000 years. These teachings are everlasting, relevant even today to awaken to permanent happiness, peace, love and wisdom. Download free […]

MORE
साधना से पहले , जाने स्वयं साधक हें या नहीं

जीवन यात्रा : साधना के मूल तत्त्व साधना , साधक, साध्य और सिद्ध, ये चार शब्द , भारतीय परंपरा के मूल हैं ी हम सब साधना को जानने का अथक प्रयास करते हैं परन्तु साधक होने पर न तो ध्यान देते हैं न ही साधक बनाने का प्रयास. इसी कारण हमें विफलता हाथ लगाती हे […]

MORE
व्यक्ति से साधक बनाना पहला चरण हे साधना में

जीवन यात्रा : साधना के मूल तत्त्व साधना , साधक, साध्य और सिद्ध, ये चार शब्द , भारतीय परंपरा के मूल हैं ी हम सब साधना को जानने का अथक प्रयास करते हैं परन्तु साधक होने पर न तो ध्यान देते हैं न ही साधक बनाने का प्रयास. इसी कारण हमें विफलता हाथ लगाती हे […]

MORE
ध्यान की यात्रा –समत्व योग- मस्तराम मस्ती में, आग लगे बस्ती में

परमानन्द और स्वतंत्रता हमारा ज्ञान जो हमारे वास्तविक स्वरूप की खोज करता हे और दुख से मुक्ति दिलाता हे । यह ज्ञान मन के पर ले जाता हे, जहां सतचितनन्द का निवास हे । यह ज्ञान हमे उस सत्ता का अनुभव करता जो प्रत्येक मनुष्य का स्वरूप हे। जीवन की यह यात्रा सबसे अनुपम के […]

MORE
कौन सा ज्ञान जो दुखों का अंत करता हे

परमानन्द और स्वतंत्रता हमारा ज्ञान जो हमारे वास्तविक स्वरूप की खोज करता हे और दुख से मुक्ति दिलाता हे । यह ज्ञान मन के पर ले जाता हे, जहां सतचितनन्द का निवास हे । यह ज्ञान हमे उस सत्ता का अनुभव करता जो प्रत्येक मनुष्य का स्वरूप हे। जीवन की यह यात्रा सबसे अनुपम के […]

MORE
जीवन यात्रा के 9 चरण

जीवन यात्रा : साधना के मूल तत्त्व साधना , साधक, साध्य और सिद्ध, ये चार शब्द , भारतीय परंपरा के मूल हैं ी हम सब साधना को जानने का अथक प्रयास करते हैं परन्तु साधक होने पर न तो ध्यान देते हैं न ही साधक बनाने का प्रयास. इसी कारण हमें विफलता हाथ लगाती हे […]

MORE